Oth Ke Lalaiya | Oth Ke Lalaiya song lyrics | ओठ के ललईया | Gunjan Singh

Oth Ke Lalaiya
  • Song : Oth Ke Lalaiya
  • Singer : Gunjan Singh, Snehe Upadhyaye
  • Lyrics : Manoj Matlabi

लाज लागेला ताके में त कैसे ताकि
धक् धक् करे दिलवा तबो कइसे राखी

लाज लागेला ताके में त कैसे ताकि
धक् धक् करे दिलवा तबो कइसे राखी

गलवा के रोरी तोहार चम् चम् करे, हिरा मोती झरे- हिरा मोती झरे

ओठ के ललईया रसेदार हिरा मोती झरे
ओठ के ललईया रसेदार हिरा मोती झरे

[ म्यूजिक ]

तोहे पाई बहुत भाग वाला
पके खुल जाइ किस्मत के ताला

चाहत के चढ़ल बा लगे खुमारी , नेहिया नादान बनी सौ में बेचारी

केतनो भी देखि तोहे मन नहिं भरे हिरा मोती झरे
कि हिरा मोती झरे

ओठ के ललईया रसेदार हिरा मोती झरे
ओठ के ललईया रसेदार हिरा मोती झरे

[ म्यूजिक ]

नेह बंधन के काबों न टूटे , सास तोहरे ही गोदिया में छूटे

अब से हमर बाड़ा तन मन तुहीं , दिलवा हमर बाकि धड़कन तुहीं

खुस होके लोर खुद अखिंया से भरे हिरा मोती झरे
कि हिरा मोती झरे

ओठ के ललईया रसेदार हिरा मोती झरे
ओठ के ललईया रसेदार हिरा मोती झरे